Abhinandan Varthaman अपडेट: IAF पायलट को वाघा बॉर्डर से दिल्ली लाया जाएगा

0
Abhinandan Return News Live Update: IAF Pilot

Abhinandan Return to Wagah Border India: आज दोपहर 3-4 बजे तक वापस आ सकते हैं पायलट अभिनंदन

नई दिल्ली. आज भारत का वीर सपूत और भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन की वतन वापसी होने जा रही है। बताया जा रहा है कि वो इस्लामाबाद से लाहौर के लिए निकल चुके हैं। इसके बाद वो बॉर्डर पर लाए जाएंगे। जहां से दोपहर 3-4 बजे तक अभिनंदन की वतन वापसी हो सकती है। यानि तकरीबन 2 घटों का वक्त बचा है। बताया जा रहा है कि कागज़ी कार्रवाई पूरी कर ली गई है। बताया जा है कि अभिनंदन के स्वागत के बाद उन्हे सीधे दिल्ली स्थित वायुसेना के हेडक्वार्टर पर लाया जाएगा जहां उनका मेडिकल चेकअप होगा।

हालांकि बीच में ख़बर आई कि पाकिस्तान बीटिंग रिट्रीट के दौरान अभिनंदन को सौंपना चाहता है। लेकिन भारत ने पहले ही भारतीय पायलट को सौंपने की मांग की है। वही अब खबर ये भी आ रही है कि पाकिस्तान अबू धाबी में चल रही ओआईसी की बैठक में हिस्सा नहीं लेगा। सुषमा स्वराज को मुख्य अतिथि बनाए रखने के अपने फैसले को ना पलटने से नाराज़ पाकिस्तान ने ओआईसी का बहिष्कार किया है।

अटारी सीमा से भारत लाए जाएंगे अभिनंदन

कहा जा रहा ैह कि अटारी सीमा से अभिनंदन को भारत में लाया जाएगा। जे डी कुरियन उन्हे लेने के लिए इस्लामाबाद गए हैं।

पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान ने गुरुवार को घोषणा की कि देश दोनों देशों के बीच तनाव के बीच एक शांति इशारा के रूप में शुक्रवार को भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के पायलट अभिनंदन वर्थमान को मुक्त करेगा। विंग कमांडर अभिनंदन को अमृतसर में वाघा-अटारी संयुक्त चेक-पोस्ट के माध्यम से वापस लाया जाएगा। IAF पायलट को रावलपिंडी से लाहौर लाया जा सकता है और पहले जेनेवा कन्वेंशन के नियमों के तहत रेड क्रॉस की अंतर्राष्ट्रीय समिति को सौंप दिया जाता है। बाद में, भारतीय वायुसेना के पायलट ने वाई।

यह विकास लगभग दो दिनों के बाद हुआ जब पाकिस्तान ने अपने मिग -21 बाइसन फाइटर जेट को नियंत्रण रेखा के पास पाकिस्तान वायु सेना के जेट विमानों के साथ कार्रवाई के बाद पकड़ लिया। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने अटारी सीमा पर अभिनंदन वर्थमान को लेने की पेशकश की है। अभिनंदन की रिहाई के लाइव समाचार अपडेट को पकड़ने के लिए हमारे साथ बने रहें। विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान को भारत को सौंपने के लिए पाकिस्तान की एक अदालत में याचिका दायर की गई है। याचिका में कहा गया है कि “प्रधान मंत्री कार्यालय को पाकिस्तान के संविधान के अनुच्छेद 4 में कानून के अनुसार कार्य करने के लिए निर्देशित किया जा सकता है, ताकि युद्ध और आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई के आपराधिक कार्यवाही शुरू करके और सेना अधिनियम 1952 के तहत मुकदमा शुरू किया जा सके”।
भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के पायलट अभिनंदन वर्थमान को प्राप्त करने के लिए शुक्रवार को अटारी संयुक्त जांच चौकी (जेसीपी) में लाखों लोग इकट्ठे हुए, जिन्हें बाद में दिन में पाकिस्तानी अधिकारियों द्वारा जारी किए जाने की संभावना है। सुबह 6 बजे से ही लोग सिखों के पवित्र शहर अमृतसर से लगभग 30 किलोमीटर दूर अटारी पहुंचने लगे थे। उनकी संख्या सुबह 9 बजे तक बढ़ गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here